How to get rid of your bad habits || अपनी बुरी आदतों से छुटकारा कैसे पाये?

How to get rid of your bad habits || अपनी बुरी आदतों से छुटकारा कैसे पाये?
How to get rid of your bad habits || अपनी बुरी आदतों से छुटकारा कैसे पाये?
How to get rid of your bad habits || अपनी बुरी आदतों से छुटकारा कैसे पाये?

जीवन में कई बार आपको ऐसी आदतें लग जाती है जो बचपन से लेकर जवानी तक और जवानी से लेकर बुढ़ापे तक आपका साथ नहीं छोड़ती है।

कई बार वह आदतें बहुत ही छोटी छोटी सी होती है उनका आपके जीवन पर बहुत ज्यादा कोई असर नहीं पड़ता है लेकिन कई बार कुछ छोटी छोटी सी आदतें धीरे-धीरे लेकर बड़ी हो जाती है लेकिन फिर आपके लाख चाहने पर लाख परेशान होने के बाद भी वह आदतें आप से नहीं अलग हो पाती है।

जिसकी वजह से आप बहुत ज्यादा तकलीफ में आ जाते हैं जीवन में आप सारे काम कीजिए किसी भी काम को करने में कोई गलत बात नहीं है लेकिन जब आप अपनी लिमिट को क्रॉस करके किसी काम को बार-बार करते हैं उसे अपनी आदत बना लेते हैं तो वह फिर गलत हो जाता है।

तो यह बुरी आदत है।

आपको लगती कैसे हैं किसी भी काम को बार-बार करके पहली बार उसे यही सोचकर करते हैं एक बार ट्राई कर लूंगा उसके बाद कभी नहीं करूंगा दूसरी बार आप यह सोचते हैं कि चल एक बार फिर से कर लेता हूं तीसरी और चौथी बार कोई आपका अपना आपके पास आता है और उसे आपको करने के लिए मजबूर कर देता है और आप उसे कर लेते हैं।

धीरे-धीरे करके यह इतनी बार हो जाता है कि आपको उसकी आदत लग जाती है और आपको पता भी नहीं चलता है और जब एक बार आपको उसकी आदत लग गई तो आप उसको बिना किए रह नहीं पाते अब चाहे वह झूठ बोलने की आदत हो किसी को धोखा देने की आदत हो शराब पीने की आदत हो या फिर सिगरेट पीने की आदत हो किसी भी प्रकार की आदत आपके जीवन के लिए बुरी है गलत है।

यह बात आपको बहुत अच्छे से पता है आपका बहुत ज्यादा नुकसान ही है यह भी बात आपको बहुत अच्छे से पता है लेकिन आप उसे खत्म नहीं कर पाते हैं क्यों क्योंकि आपको आदत लग चुकी है आप सोच कर देखिए कि सिगरेट पीते पीते यह बोलने से कि यह मेरी लास्ट सिगरेट है उसके बाद नहीं पियूंगा।

क्या किसी व्यक्ति ने आज तक सिगरेट छोड़ी है शराब छोड़ी है या फिर कोई और बुरा काम छोड़ा है नहीं छूटा ना तो फिर सोच कर देखिए कि आप ऐसा क्यों बोलते हैं कि आपकी आदतें भी इस प्रकार से बोलने से या फिर कमेंट करने से छूट सकती है बिल्कुल नहीं इंसान की एक और आदत होती है।

जो शायद आज से नहीं जब से पृथ्वी बनी होगी मनुष्य बना होगा तभी से चल रही है और वह यह है कि अपने आप को झूठ बोलने की आदत अपने आप को धोखा देने की आदत और इसीलिए तो शायद आप भी अपने आपको कई बार धोखा देते रहते हैं सोचते रहते हैं कि सिर्फ बोलने से आप यह कर जाएंगे जबकि आपको भी पता है कि आप उस बुरी आदत को छोड़ नहीं पाए हैं।

और ना ही कभी छोड़ पाएंगे यदि वाकई में आप उस आदत को छोड़ना चाहते हैं उन बुरी बातों को उन बुरी आदतों को छोड़ना चाहते हैं तो आपको वाकई में आज अभी इसी वक्त से फैसला लेना होगा कि आज के बाद मैं उस चीज को उस काम को कभी नहीं करूंगा अरे जब इतनी बातें सुनते हो समझते हो और self-control नाम की एक बात भी सुनते हो तो कहां गया आपका self -control अपने आप से पूछिए ना क्या आप अपने आप को कंट्रोल कर सकते हैं।

यदि आपने आज अपने आप से वादा किया है तो क्या आज कल परसो तक हफ्ता एक महीना आप अपने आप पर कंट्रोल कर पाए और यदि कंट्रोल नहीं कर पाए फिर से वही चीज की तो अपने आप को एक जगह पर बैठाईए और अपने आप से पूछिए की कौन सी ऐसी चीज है जो आपको उन बुरी बातों और बुरे कामों को करने पर मजबूर कर रही है अपने आप से पूछिए कि क्या उस चीज के बिना आपका जीवन चल नहीं सकता है।

उसकी वजह से जो आपका जीवन खराब हो रहा है तो क्या आप ऐसे ही अपने जीवन को खराब होने देंगे माना कि पहले पहले आपको उन चीजों को करने में बड़ा मजा आता था बड़ा अच्छा लगता था आप को जन्नत वाली फीलिंग आती थी लेकिन आज आप को खुद पता है कि वह चीज वह आदत जन्नत नहीं है वह जहन्नुम है।

The right way to help || मदद करने का सहीं तरीका क्या हैं?

और आप खुद अपने आप को उस जहन्नुम से बाहर निकाल सकते हैं अपने आप से commit करके कि जब तक मेरी मरने जैसी हालत नहीं हो जाती मैं उस चीज को उस काम को कभी नहीं करूंगा मुझे बहुत अच्छे से पता है।

कि जब आप किसी चीज को छोड़ने का ट्राई करते हैं तो वही चीज बार-बार आपके सामने आती है आपको वही चीज बार-बार करने का मन करता है लेकिन आप अपने आप को बताइए समझाइए सजा दीजिए और कहिए कि यह चीज गलत है मतलब गलत है।

याद कीजिए कि कुछ दिनों पहले भी तो आपने किसी अपने मित्र दोस्त यार को कहा होगा कि बस यार अब बहुत हो गया अब मुझे इसे छोड़ना ही होगा मैं इसे छोड़ दूंगा लेकिन अभी तक आप उसे छोड़ नहीं पा रहे हैं क्यों अपने आप से प्रश्न कीजिए और याद रखिए कि आपके अलावा दुनिया में कोई ऐसा इंसान नहीं है जो इन आदतों को छुड़वाने में आपकी मदद कर सकता है।

आपकी मदद एक ही इंसान कर सकता है और वह है आप खुद तो वादा कीजिए अपने आप से और छोड़ दीजिए इन आदतों को अगर आपको यह 99topnews.com ब्लॉग अच्छा लगा तो शेयर जरूर करना अपने दोस्तों के साथ ताकि उन्हें भी थोड़ा मोटिवेशन मिले।

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *